1. अरसी आभूषण कहां पहना जाता है?
उंगलियों में
कान में
नाक में
पैर में
Note: अरसी आभूषण उंगलियों में पहना जाता है। राजस्थानी स्त्री अपनी उंगलियों में बींटी, मुंदडी, दामणा, हथपान, अरसी (अंगूठे की अंगूठी), छड़ा और वींछिया भी पहनती है। इसके अलावा राजस्थानी महिलाऐं गला व छाती में तुलसी बजंट्टी, हालरो, हांसली, पोत, चन्द्रमाला, कंठमाला, हाकर, चंपाकली, कंठी, पंचलड़ी, मटरमाला, मोहनमाला, जालरो, चंद्रहार, तिमणिया, ढुस्सी, निबोरी, जुगावली, कंठसारी, मांदलिया, खुंगाली, जंजीर, हार, हंसहार, कंठी नामक आभूषण भी पहनती है।

[RSMSSB LDC-2018]
2. ‘झेला, जमेला, पीपलपत्रा, अगोट्या’ किस अंग के आभूषण हैं ?
हाथ
गला
कान
अंगुली
Note: "झेला, जमेला, पीपलपत्रा, अगोट्या" कान के आभूषण हैं।

3. बजट्टी, लटकन, लूंग, चूनी इत्यादि आभूषण पहने जाते हैं-
नाक में
पैर में
हाथ में
कान में
Note: बजट्टी, लटकन, लूंग, चूनी इत्यादि आभूषण नाक में पहने जाते हैं।

4. चंपकली आभूषण पहना जाता है-
कमर पर
सिर पर
हाथों में
गले में
Note: चंपकली आभूषण गले में पहना जाता है।

5. मौखड़ी क्या है-
पंच धातु की मूर्ति
राजस्थानी जूती
लाख की चूड़ियां
सोने का हार
Note: लाख की चूड़ियों को मौखडी कहते है।


6. होलरा नामक आभूषण पहना जाता है-
कमर पर
गले में
सिर पर
हाथ में
Note: मूंठ, मादलिया, मोहनमाल, मंगलसूत्र, निम्बोरी व होलरा आदि गले में पहनने के आभूषण है।

7. स्त्रियों के बालों की बेणी में गूंथा जाने वाला आभूषण कहलाता है-
गोगली
मुरकी
गोफड़
फोगरी
Note: गोफड़, स्त्रियों के बालों की बेणी में गूंथा जाने वाला आभूषण है।

8. निम्न में से किस सभ्यता को ‘सौन्दर्य प्रसाधन प्रेमी सभ्यता’ कहते हैं-
गणेश्वर
आहड़
बैराठ
कालीबंगा
Note: "सौन्दर्य प्रसाधन प्रेमी सभ्यता" कालीबंगा सभ्यता को कहा जाता है, क्योंकि वहां के लोग को सजने-संवरने का अधिक शौंक था।

9. तिमणिया पहना जाता है-
महिलाओं द्वारा, गले में
महिलाओं द्वारा, कमर में
पुरूषों द्वारा, बाजू पर
पुरूषों द्वारा, कान में
Note: तिमणिया, राजस्थानी महिलाऐं गले में पहनती है।

10. ‘तेधड़’ आभूषण पहना जाता है-
पुरूषों के कानों में
स्त्रियों के पैरों में
स्त्रियों के सिर पर
स्त्रियों के हाथों में
Note: ‘तेधड़’ आभूषण स्त्रियों के पैरों में पहना जाता है।


11. ‘ताराभांत की ओढ़नी’ राजस्थान की किन स्त्रियों की लोकप्रिय वेशभूषा है-
बिशनोई
ब्राह्मण
गुर्जर
आदिवासी
Note: "तारा भांत की ओढ़नी" आदिवासी स्त्रियों की लोकप्रिय ओढ़नी है। इसमें जमीन भूरी-लाल तथा किनारों का छोर काला षट्कोणीय आकृति वाला तारों जैसा होता है।

12. महिलाओं के गहनों का सिर से पैर तक का सही क्रम है-
बोर, चूंप, नथ, टिडी, कड़ला, भलको, बिन्दिया, गलपटियों
बोर, टीडी, भलको, बिन्दिया, नथ, चूंप, गलपटियों, कड़ला
बोर, नथ, बिन्दिया, टिडी, भलको, चूंप, गलपटियो, कड़ला
बोर,बिन्दिया, टीडी, भलको, गलपटियों, चुंप, कड़ला, नथ
Note:

13. ‘चोप’ नामक आभूषण पहना जाता है-
दांत में
नाक में
गर्दन में
कलाई में
Note: ‘चोप’ नामक आभूषण नाक में पहना जाता है।

14. गले में बाँधी जाने वाली देवी देवताओं की प्रतिमा को कहते हैं-
मूरत
नावा
तकमा
अरसी
Note: नावा व चौकी गले में बाँधी जाने वाली देवी देवताओं की प्रतिमा को कहते हैं।

15. निम्न में से कौनसा सिर का आभूषण नहीं है?
कड़तोड़ौ
काचर
बोरला
मेमंद
Note: कड़तोड़ौ महिलाएं कमर में पहनती है। काचर, मेमंद व बोरला सर में पहनने के आभूषण है।


16. निम्न में से महिलाए पैर में क्या पहनती है?
चोप, चुनी, लटकन, खींवनी
खांच, अड़कनी, डोडी, बहरखौ
कंदोरो, जंजीर, तागड़ी, वसन
आंवला, कड़ला, लंगर, छड
Note: लंगर, छड, नेवरी, बिन्छुड़ी, आंवला तथा कड़ला पैर में पहने के आभूषण है।

17. निम्न में से 'मेख' है?
अंगुली में पहने जाने वाला आभूषण
पांवो में पहने जाने वाला एक आभूषण
आभूषण में लटकाई जाने वाली छोटी लड़ी
स्त्री-पुरुष के दांत में जड़ी सोने की चूंप
Note: मेख दांत के आभूषण चुंप का ही एक प्रकार है जिसे स्त्री-पुरुष दांत में लगते है।

18. हालरो, झालरो, खिंवली व तांतणियौ किस अंग से संबंधित है?
सिर
बाजू
गला
कमर
Note: हालरो, झालरो, खिंवली, तांतणियौ, पंचलड़ी, हंसुली, हाली व तिणणिया आदि स्त्रियाँ गले में धारण करती है।

19. निम्नांकित में से पुरुषों द्वारा पहने जाने वाला आभूषण है-
मुरकिया
टड्डा
बोरला
बंगड़ी
Note: मुरकिया एक प्रकार की बाली होती है जो पुरुष कान में पहनते हैं।

20. सटका शरीर के किस अंग का आभूषण है?
पैर
नाक
गला
कमर
Note: सटका नमक आभूषण स्त्रियाँ कमर पर धारण करती है।

21. 'कोकरूं, डरगनियो, तड़कली' आदि आभूषण किस अंग में पहने जाते है?
कान
गला
नाक
सिर
Note: टोटी, टोरियो, डरगनियो, तड़कली, पीपलपत्र, पासो, पीपलपान, बाली, लटकन, माकड़ी, सन्दोल, वेडलो तथा बूसली कुछ अन्य प्रमुख कान के आभूषण है।

22. 'टोडर' आभूषण है?
पुरुषों की पगड़ी का आभूषण
महिलाओं की कमर का आभूषण
महिलाओं के गले का आभूषण
पुरुषों के पैर का आभूषण
Note: पुरूषों के पांव में पहने जाने वाले आभूषण- टोडर, छेलकड़ा, बेड़ी-पागड़ौ आदि।

23. 'बंगड़ी' आभूषण ______ में पहना जाता है?
कमर
गला
बाजु
हाथ
Note: 'बंगड़ी' आभूषण हाथ में पहना जाता है।

24. 'खांच' कहाँ पहना जाता है?
बाँह
पाँव
कान
कमर
Note: 'खांच' आभूषण बाँह में पहना जाता है।

25. चुंप व रखन संबंधित है-
नाक
हाथ
दांत
कान
Note: राजस्थान में दांत के मुख्यतः 2 आभूषण देखने को मिलते है- 1. चुंप, 2. रखन। ये सोने व चाँदी की परते है जो दांत के ऊपर पहनी जाती है।



GK Test Series

Rajasthan GK Test Series #42

Time: 2 min. & Total Questions: 10


Rajasthan GK Test Series #41

Time: 2 min. & Total Questions: 10


Rajasthan GK Test Series #40

Time: 2 min. & Total Questions: 10